udaipur. राजस्थान सरकार, हिन्दुस्तान जिंक व वेदान्ता फाउण्डेशन द्वारा संचालित वेदान्ता बाल चेतना आंगनवाडी परियोजना के राजसमन्द जिले के रेलमगरा ब्लॉक की 100 आंगनवाडी केन्द्रों पर शालापूर्व शिक्षण सामग्री वितरण समारोह बुधवार को रेलमगरा के राजीव गांधी सेवा केन्द्र पर आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि रेलमगरा सरपंच प्रकाश चौधरी ने कहा कि हिन्दुस्तान जिंक राजपुरा दरीबा द्वारा दी जा रही शालापूर्व शिक्षण सामग्री का उपयोग करते हुए आंगनवाडी पर आने वाले बालकों का संर्वागीण विकास सुनिश्चित करें।

सरपंच चौधरी ने हिन्द जिंक दरीबा के सामाजिक निगमित उतरदायित्व के तहत किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए क्षेत्र के विकास में दिये जा रहे योगदान को अन्य के लिए अनुकरणीय कहा। समारोह में महिला व बाल विकास अधिकारी सरस्वती बुन्देल ने कहा कि हिन्द जिंक दरीबा द्वारा दी गई शिक्षण सामग्री एक अनूठा प्रयास है। इस सामग्री से बच्चों का मानसिक, बोद्धिक, शारिरीक विकास में सहायक होगी। साथ ही साथ विभाग के उद्देश्य  आंगनवाडी पर बालकों के ठहराव को सुनिश्चित किया जा सकेगा, वहीं विद्यालयों में प्रवेश से वंचित बालकों की संख्या में कमी आयेगी।
हिन्दुस्तान जिंक राजपूरा दरीबा के सीएसआर अधिकारी बीएल सुखवाल ने हिन्दुस्तान जिंक द्वारा संचालित की जा रही ग्रामीण विकास की गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए आंगनवाड़ी परियोजना के बारे में बताया कि रेलमगरा ब्लॉक की 100 आंगनवाडी केन्द्रों पर बच्चों के सर्वागिण विकास को ध्यान में रखते हुए विभिन्न प्रकार की शालापूर्व शिक्षण सामग्री प्रदान की गई है व कम्पनी के सीएसआर कार्यक्रम के तहत समय समय पर ऐसे कार्य किये जाते रहेंगे।
सीएसआर अधिकारी एस एन टेलर, महिला व बाल विकास विभाग रेलमगरा की महिला पर्यवेक्षक कमलेश मईडा, मन्जु भटनागर, सुशीला शर्मा, आंगनवाडी कार्यकर्ता, क्लस्टर समन्वयक उपस्थित थे। संचालन वेदान्ता बाल चेतना आंगनवाडी परियोजना के जिला समन्वयक कैलाश सोनी ने किया।