हिन्दुस्तान जिंक़ के परिसर में खान एवं प्रचालन सुरक्षा संबंधित प्रदर्शनी
सुरक्षा संबंधी उपकरणों के उपयोग पर दी जानकारी

271001उदयपुर। हिन्दुस्तान जिंक के प्रधान कार्यालय में सुरक्षा संबंधित प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस प्रदर्षनी में खान एवं सुरक्षा संबंधित उपकरणों की भी जानकारी दी गई तथा किस प्रकार प्रचालन में इन उपकरणों का उपयोग किया जाता है, कर्मचारियों के परिवारों को बताया गया।

उद्घाटन अनिल कुमार दास उपनिदेशक एवं संजीव कुमार उपनिदेशक खान सुरक्षा महानिदेशालय उदयपुर क्षेत्र तथा हिन्दुस्तान जिंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील दुग्गल ने किया। साथ ही उपस्थित अमिताभ गुप्ता, मुख्य वित्तीय अधिकारी एलएस शेखावत मुख्य प्रचालन अधिकारी (खनन) विकास शर्मा, मुख्य प्रचालन अधिकारी (स्मेल्टर्स) वी जयरमन हेड-एचएसई तथा हिन्दुस्तान जिंक की सभी ईकाइयों के इकाई प्रमुख।
हिन्दुस्तान ज़िक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दुग्गल ने हिन्दुस्तान जिंक की सभी सुरक्षा की महत्ता पर जोर दिया। उन्होंकने कहा सुरक्षा के प्रति जागरूकता जरूरी है। हिन्दुस्तान जिंक में सभी ईकाइयों में सुरक्षा के उत्कृष्ट उपाय किये गये हैं। आज की प्रदर्शनी के माध्यम से हम ना सिर्फ हमारे कर्मचारियों को तथा उनके परिवारों को भी सुरक्षा संबंधित संदेश दे रहे हैं साथ ही हम यह भी बताना चाहते हैं कि उनके परिवार का जो भी सदस्य हमारे प्रचालन में कार्यरत है वह पूर्णरूप से सुरक्षित है।
271002एलएस शेखावत मुख्य प्रचालन अखिकारी (खनन) ने बताया कि कार्य स्थल पर सुरक्षा पहली प्राथमिकता है। खदानों में कार्य करना चुनौतिपूर्ण होता हैं इसलिए सुरक्षा नियमों को कड़ाई से पालन किया जाता है।
विकास शर्मा मुख्य प्रचालन अधिकारी (स्मेल्टर्स) ने बताया कि हमें कार्य के साथ-साथ सुरक्षा को भी प्राथमिकता देनी होगी। प्रदर्शनी के माध्यम से कर्मचारियों के परिवार सदस्यों को सुरक्षा नियमों एवं उपायों के बारे में अवगत कराने की जरूरत है।
अनिल कुमार दास ने बताया कि भूमिगत खदान अपने आप में एक चुनौतीपूर्ण कार्य है। हिन्दुस्तान जिंक ना सिर्फ सुरक्षा के प्रति जागरूक है बल्कि उसका निर्वाह भी उच्चतम तरीके से कर रही है। हिन्दुस्तान जिंक की सभी खदानों एवं प्रचालनों में कर्मचारियों को नियमिततौर पर सुरक्षा के प्रति जागरूक किया जाता रहा है।
नवीन कुमार सिंघल ने बताया कि हिन्दुस्तान जिंक की विस्तार परियोजनाओं में सर्वश्रेष्ठ  टेकनॉलोजी का उपयोग किया जाता है। सभी तरह की नई योजनाओं में अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा नियमों को सख्ती से लागू किया जाता है। अमिताभ गुप्ता मुख्य वित्तीय अधिकारी ने कार्य के साथ-साथ वास्तविक जीवन में भी सुरक्षित रहने पर जोर दिया।
हिन्दुस्तान जिंक के पवन कौशिक हेड-कार्पोरेट कम्यूनिकेशन कान्टेªक्ट एम्पलॉयज में सुरक्षा के प्रति जागरूकता लाने के लिए बिइंग सेफ कार्यक्रम चला रहे हैं जिसके तहत वह स्वयं अब तक 800 से अधिक कर्मचारियों एवं उनके परिवारों से मिल चुके हैं तथा ना सिर्फ प्रचालन सुरक्षा बल्कि आम जिन्दगी में सुरक्षा के महत्व पर कार्यशालाएं आयोजित कर चुके हैं। कौशिक ने बताया कि सुरक्षा केवल परिसरों तक सीमित नहीं है हमें सड़क सुरक्षा पर भी बहुत जोर देना होगा। एक व्यक्ति की सुरक्षा पर पूरा परिवार टिका होता है तथा उसका सुरक्षित रहना पूरे परिवार को सुरक्षित रखता है।
प्रधान कार्यालय के कर्मचारियों के बच्चों एवं महिलाओं ने भी सुरक्षा प्रदर्षनी में उत्साह से भाग लिया। बच्चों एवं महिलाओं ने फायर सुरक्षा, होम सुरक्षा, रोड सुरक्षा एवं महिला सुरक्षा के पोस्टर्स बनाए एवं प्रदर्शनी में लगाए। हिन्दुस्तान जिंक के मुख्य कार्यकारी अधिकरी सुनील दुग्गल ने बच्चों के बनाये सुरक्षा आरोहण के पोस्टर का उदघाटन किया और बच्चों को सुरक्षा के प्रति प्रेरित करने के लिए पुरस्कृत भी किये। समारोह में हिन्दुस्तान जिंक की प्रत्येक ईकाई ने भाग लिया। सभी इकाईयों ने सुरक्षा के प्रति बेहतर प्रदर्शन किया तथा श्रेष्ट प्रदर्षन करने वाली इकाईयों को पुरस्कृत भी किया गया। प्रदर्शनी में सिन्देसर खुर्द एवं राजपुरा दरीबा खदान-प्रथम, कायड़ खदान-द्धितीय तथा जिंक स्मेल्टर देबारी एवं रामपुरा आगुचा खदान-तृतीय रही।
कंपनी के सभी इकाई प्रधान एवं वरिष्ठ अधिकारी, प्रधान कार्यालय से सभी वरिष्ठ अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। ज्ञातव्य रहे कि हिन्दुस्तान जिंक अपने सुरक्षा अभियान आरोहण का तृतीय वर्ष मना रहा हैं।