हिन्दुस्तान जिंक की इकाई दरीबा स्मेल्टर काॅम्पलेक्स-कैप्टिव पाॅवर प्लांट को वर्ष 2016 में ऊर्जा खपत को कम करने के लिए विभिन्न विद्युत बचत परियोजाओं के क्रियान्वयन के लिए पाॅवर प्लांट इण्डस्ट्रीज की श्रेणी में ‘एसईईएम नेषनल एनर्जी मैनेजमेंट अवार्ड-2016’ से सम्मानित किया है।

यह प्रतिष्ठित पुरस्कार श्री के.के. चक्रवर्ती, एनर्जी इकोनाॅमिस्ट तथा कैलिफोर्निया विष्वविद्यालय बर्कले के 2007 नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित टीम के सदस्य डाॅ. जयन्त साठे ने सोसायटी आॅफ एनर्जी इंजीनियर्स एण्ड मैनेजर्स (एसईईएम) द्वारा अहमदाबाद में आयोजित एक समारोह में प्रदान किया।
हिन्दुस्तान जिं़क की ओर से यह पुरस्कार श्री ए.के. सिंह, महाप्रबन्धक-कैप्टिव पाॅवर प्लांट, दरीबा स्मेल्टर काॅम्पलेक्स एवं श्री रूपक सरकार, एसोसिएट मैनेजर-सीपीपी ने ग्रहण किया।
उल्लेखनीय है कि हिन्दुस्तान ज़िंक के सभी प्लांट कैप्टिव पाॅवर प्लान्ट से संचालित है जिनकी वर्तमान क्षमता 474 मेगावाट है ।
हिन्दुस्तान जिं़क के हेड – कार्पोरेट कम्यूनिकेषन पवन कौषिक ने बताया कि ‘‘पवन ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिये हिन्दुस्तान जिं़क ने पवन ऊर्जा फार्मों का गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान, तमिलनाडु तथा महाराष्ट्र में भी विस्तार किया है तथा वर्तमान में पवन ऊर्जा उत्पादन क्षमता 274 मेगावाट है।’’