हिन्दुस्तान जिंक एवं सृजन द स्पार्क का जश्ना-ए-परवाज कार्यक्रम 7 को
मशहूर संगीतकार आनन्द जी सहित 7 कला प्रेरकों को हिन्दुस्तान जिंक सृजन पुरस्कार

उदयपुर। सृजन द स्पार्क संस्था द्वारा हिन्दुस्तान जिंक के सहयोग से इस वर्ष आयोजित होने वाले एक सुकून जश्नक ए परवाज़ कार्यक्रम 7 अक्टू बर को होगा।

हिन्दुस्तान ज़िंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील दुग्गल ने प्रेस वार्ता में कहा कि हिन्दुस्तान जिंक कला और संगीत को बढ़ावा देने के लिए हमेशा आगे रहा है। वर्ल्ड म्यूजिक फेस्टिवल, स्मृतियां और सृजन द स्पार्क जैसे राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हिन्दुस्तान जिंक के सहयोग से किया जाता रहा है। उन्होंने आह्वान किया कि लेकसिटी की सभी कलाप्रमी संस्थाएं मिल कर वर्ष में एक बार सांस्कृतिक सप्ताह आयोजित करें जिससें कला, कलाकारों और कार्यक्रम के साथ ही उदयपुर को विष्वस्तरीय पहचान मिल सकें।
देश के प्रसिद्ध संगीतकार आनन्द जी को इस वर्ष हिन्दुस्तान जिं़ंक सृजन पुरस्कार 2017 से नवाजा जाएगा। इनके साथ ही राजस्थान सहित देष में साहित्य पत्रकारिता, संगीत एवं कला के लिये अपना बहुमुल्य योगदान देने वाले 6 अन्य व्यक्तियों को भी इस बार पुरस्कार से नवाज़ा जाएगा। आगामी 7 अक्टूबर को सायं 7.30 बजे, लोककला मंडल में आयोजित होने वाले एक सुकून जष्न ए परवाज कार्यक्रम में विख्यात गायक सुरेष वाडेकर अपनी प्रस्तुती देगें। इस कार्यक्रम में राजस्थान के दो उदीयमान कलाकार जावेद हुसैन एवं आर्यन माथुर भी अपनी प्रस्तुती देंगे।
प्रेसवार्ता में हिन्दुस्तान जिं़क के हेड कार्पोरेट कम्यूनिकेषन पवन कौषिक ने कहा कि ‘‘संगीत में हम नाम को भूल जाते है काम को याद रखते है लेकिन इस प्रकार के कार्यक्रम और सम्मान काम के साथ साथ नाम को भी याद दिलाते है।‘‘ उन्होंने मषहुर संगीतकार कल्याणजी आनंद जी की जोडी द्वारा हिन्दी फिल्मों में संगीत के लिये योगदान को याद दिलाते हए उनके गीतों से उनकी याद ताज़ा कर दी। प्रेसवार्ता में एक हिन्दुस्तान जिं़क के स्मार्ट सिटी में योगदान के सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि हिन्दुस्तान जिं़क ने राजस्थान सरकार के साथ 20 मिलियन टन प्रतिदिन क्षमता वाले पहला प्राईवेट-पब्लिक पार्टनरषीप सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित किया है जो कि उदयपुर को स्मार्ट सिटी बनाने के प्रयास में महत्वपूर्ण साबित हो रहा है । हिन्दुस्तान जिं़क द्वारा अब 20 मिलियन टन से बढ़ाकर इसकी क्षमता 60 मिलियन टन की जा रही है।
सृजन द स्पार्क के अध्यक्ष लोकेष चौधरी ने बताया कि गज़ल, शास्त्रीय संगीत एवं गायन के जरियें भारतीय संस्कृति की धरोहर को संजोये रखने के उददे्ष्य से गठित की गई इस संस्था द्वारा स्थानीय कलाकारों को मंच प्रदान करने के लिए अनेक कार्यक्रम आयोजित किये गये हैं। संस्था द्वारा पहले और दूसरे वर्ष में राष्ट्रीय मुषायरा आयोजित किया गया जिसमें ख्यातनाम शायरों ने भाग लिया है। संस्था के 2015 में आयोजित पहले कार्यक्रम में प्रख्यात गायक रूपकुमार राठौड़ एवं दूसरे वर्ष 2016 में शैलेष लोढ़ा को सम्मानित किया जा चुका है।
‘एक सुकून जष्न ए परवाज़‘ कार्यक्रम संयोजक राजेष खिमेसरा ने कहा कि हिन्दुस्तान ज़िंक सृजन अवार्ड हिन्दुस्तान जिं़क के सहयोग से दिया जाता है जिसमें एक लाख रूपये की राषि दी जाती है जो इस वर्ष कल्याण जी आनन्द जी की प्रसिद्ध जोडी के आनन्द जी को यह पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी साहित्य कला  एवं संगीत के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगो कला प्रेरक अवार्ड दिये जा रहे है जिनमें मुबंई के मयुरेष पई जिन्होंने संगीतकार सलील चौधरी द्वारा लिखे गये अनसुने गीतों को लता मंगष्कर की आवाज में रिकार्ड करवाये। नई दिल्ली से प्रसिद्ध सरोदवादक एवं असिस्टेंट डायरेक्टर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय आकाषदीप, जयपुर से वरिष्ठ पत्रकार ईषमधु तलवार, इंदौर से सामजिक कार्यकर्ता एवं कवि सम्मेलन संयोजक विजय मेहता, नई दिल्ली से ऑल इंडिया युनिवर्सिटी एसोसिएषन के संयुक्त सचिव सेम्पसन डेविड एवं उदयपुर के कला प्रेमी किरणमल सावनसुखा को ये पुरस्कार दिये जाएगें। संस्था द्वारा कलाकारों को प्रोत्साहित करने एवं उन्हें मंच प्रदान करने के लिये गज़ल ऐकेडमी की शुरूआत की जाएगी।
सृजन द स्पार्क- एक सुकून जश्नर ए परवाज़ 2017 की अध्यक्षता हिन्दुस्तान जिंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील दुग्गल करेंगे। मुख्य अतिथि गृहमंत्री गुलाबचन्द कटारिया तथा विशिष्ट अतिथि यूडीएच मंत्री श्रीचन्द कृपलानी तथा शैलेष लोढ़ा होंगे।
प्रेसवार्ता में सृजन द स्पार्क के सचिव अब्बास अली बंदूकवाला, सह-संयोजक राजेन्द्र शर्मा, अन्य पदाधिकारी सहित हिन्दुस्तान जिंक के अधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम में प्रवेष निःषुल्क परंतु निमंत्रण पत्र द्वारा होगा।