ग्राम पंचायत के सभी वाहनों पर लगेगी  रिफ्लेटिव टेप

उदयपुर। हिन्दुस्तान जिंक एवं राजस्थान सड़क सुरक्षा सोसायटी द्वारा सड़क सुरक्षा के लिए रात्रिकालीन में होने वाली दुर्घटनाओं में कमी के उद्देश्य से देबारी जिंक स्मेल्टर ग्राम पंचायत के 100 से अधिक दोपहिया वाहनों के तीनो और एआईएस-090 मानकों की रिफ्लेक्टिव टेप लगाकर अभियान की शुरूआत की गयी।

प्रत्येक दोपहिया वाहन में पीछे लाल एवं दोनो साईड सफेद रंग की टेप लगाई गई। सोसायटी के देबारी क्षेत्र के प्रशिक्षक हितेश लौहार ने रिफ्लेक्टिव टेप की आवश्यकता, हेलमेट की उपयोगिता, कानून एवं नियम के साथ इसकी उपयोगिता के बारे में बताया तथा ग्रामवासियों से सोसायटी के मिशन की थीम ‘स्वच्छ-स्वस्थ-सुरक्षित राजस्थान’ के तहत सुरक्षा को प्राथमिक आवश्यकता बताया साथ हाइवे पर मिलने एवं निकलने तथा चलने के सुरक्षित तरीकों के बारे में विस्तार से बताया। ग्राम पंचायतों में वाहनों की श्रेणी के अनुसार सर्वेक्षण किया है उसी के अनुरूप पहले 100 प्रतिशत दोपहिया वाहनों में बाद में ट्रेक्टर ट्रोलियों एवं अन्य वाहनों पर ऐसी टेप लगायी जावेगी। इस अभियान के शुभारम्भ के अवसर पर युवराज टांक, प्रतापनगर पुलिस थाना के पुलिस स्टाफ से काॅस्टेबल भीमसिंह यादव, हिन्दुस्तान जिंक सीएसआर अधिकारी ज़रनैन फातिमा एवं सीएसआर समन्वयक मोतीलाल शर्मा, सड़क सुरक्षा युवा समिति जिंक स्मेल्टर के त्रिलोक सालवी, सोनू लौहार एवं मोबाईल वेन के सहायक अनुदेशक मानसिंह रावत,पी.सी. जैन मौजूद थे। रामदेवरा जाने वाले यात्रियों के गाड़ियो पर रिफ्लेक्टिव टेप लगाई गयी। प्रत्येक रविवार को प्रातः 8 से 12 बजे तक जिंक स्मेल्टर में रिफ्लेक्टिव टेप कैम्पन चलाकर शतप्रतिशत दोपहिया वाहनों में टेप लगायी जाएगी। हिन्दुस्तान जिं़क द्वारा सड़क सुरक्षा जागरूकता हेतु बीसेफ एवं बीईंग सेफ कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसका उद्धेश्य सडक, घर या कार्यस्थल एवं हर स्थान पर सुरक्षा के प्रति जागरूक रहना है, सुरक्षा नियम सुरक्षा के लिए बनाये जाते हैं सभी को सुरक्षा नियमों का पालन करना चाहिए जिससे परिजनों और बच्चों के स्वयं के मन में सुरक्षा के लिये प्रतिबद्धता उत्पन्न हो।