सरदार पटेल की प्रतिमा में हिन्दुस्तान का जस्ता

उदयपुर। सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा (स्टैच्यू आफ यूनिटी) के निर्माण में तीन कंपनियों ने 3 हजार टन गैल्वेनाइज्ड स्ट्रक्चरल स्टील की आपूर्ति की है। इस स्टील को मजबूती देने के लिए हिन्दुस्तान जिंक का 200 टन जस्ता लगा है।

गैल्वेनाइज्ड स्टील के उपयोग से जंग लगने का खतरा नहीं रहता है तथा सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा (स्टैच्यू आफ यूनिटी) को अनिष्चितकाल के लिए मजबूति मिलेगी। स्टैच्यू आफ यूनिटी 182 मीटर ऊंची, दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है। यह प्रतिमा सरदार पटेल के व्यक्तिव का प्रतिनिधित्व करती है जिन्होंने स्वतंत्र भारत के निर्माण में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
हिन्दुस्तान जिंक के वाइस प्रेसीडेन्ट एण्ड हेड-कार्पोरेट कम्यूनिकेशन पवन कौशिक ने बताया कि हिन्दुस्तान जिंक के लिए यह बड़े गर्व की बात है कि हम इस प्रतिमा में योगदान दे पाये। जिं़क की परत स्टील को जंग लगने से सुरक्षा देगी तथा निश्चित तौर पर इससे प्रतिमा को सदैव मजबूती मिलेगी।
हिन्दुस्तान जिंक भारत की एकमात्र एवं विश्व की अग्रणी जस्ता-सीसा एवं चांदी उत्पादक कंपनी है। जस्ता-सीसा एवं चांदी उत्पादक तथा धातु उत्पादन में विश्व की अग्रणीय होने के कारण हिंदुस्तान जिंक को जिंक एण्ड सिल्वर आफ इण्डिया कहा जाता है और देश को पर्याप्त मात्रा में जस्ता प्रदान करता है। हिंदुस्तान जिंक का भारत के जिंक बाजार पर 85 प्रतिशत नियंत्रण हैं और भारत में 100 प्रतिशत एकीकृत चांदी का उत्पादन करती हैं।