संपूर्ण स्वच्छता अभियान के तहत वेदान्ता हिन्दुस्तान जिंक का राज्य सरकार से समझौता

उदयपुर। ‘मुख्यमंत्री ग्रामीण बीपीएल आवास योजना’ के तहत वेदान्ता हिन्दुस्तान जिंक ने राजस्थान सरकार के साथ मिलकर राजस्थान में 20 हजार बीपीएल ग्रामीण परिवारों के घरों में शौचालय निर्माण के लिए अनुबंध किया है।

इस परियोजना के तहत गांवों में बीपीएल परिवारों के लिए घरों में शौचालय का निर्माण से ग्रामीण परिवारों को स्वस्थ एवं स्वच्छ वातावरण उपलब्ध होगा तथा इसका मुख्य उद्देश्ये ग्रामीण क्षेत्रों में खुले में शौच करने की गलत प्रथाओं के प्रति जागरूकता लाना, बुरी आदतों व प्रथाओं को समाप्त करना है। इस परियोजना से स्वास्थ्य एवं आदतों में सुधार होगा तथा जागरूकता से स्वास्थ्य एवं स्वच्छता में परिवर्तन आएगा।
ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं एवं लड़कियों के लिए शौचालय की कमी हमेशा चिंता का विषय रही है। प्रत्येक घर में शौचालय ग्रामीण परिवारों को सम्मानजनक जीवन देता है तथा घरों में शौचालय होने से घर का प्रत्येक समदस्य सहज, सुविधा, सुरक्षा तथा सुरक्षित महसूस करता हैं, विशेष रूप से परिवार की महिलाएं एवं लड़कियां।
यूनिसेफ की रिपोर्ट के अनुसार भारत की 48 प्रतिशत ग्रामीण आबादी को शौचालय और स्वच्छता सुविधाएं उपलब्ध है। वर्तमान में मानव को स्वस्थ रहने के लिए स्वस्थ एवं स्वच्छ होना अतिआवश्यपक है तथा इसका सेहत से सीधा संबंध है। भारत की 50 प्रतिशत आबादी खुले में शौच करती हैं जिससे कई गंभीर बीमारियां फैलती हैं। अकेले राजस्थान में 60 प्रतिशत आबादी खुले में शौच के लिए जाती हैं।
इस परियोजना के अंतर्गत प्रारंभ में भीलवाड़ा एवं चित्तौडग़ढ़ की तीन पंचायत समितियों में शौचालयों का निर्माण करवाया जाएगा। यह परियोजना लगभग 25 करोड़ रु. की लागत से तीन चरणों में तीन वर्ष की अवधि में पूर्ण की जाएगी।
ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुनिश्चित करने के लिए एक केन्द्रीय वृहद् कार्यक्रम ‘सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान’ चलाया जा रहा है।
वेदान्ता समूह की जस्ता-सीसा-चांदी उत्पादक कंपनी, हिन्दुस्तान जिंक ‘सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान’ के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में पहले ही शौचालयों का निर्माण कर चुकी है तथा जिला ग्रामीण विकास प्रशासन के सहयोग से अब तक 1750 शौचालयों का निर्माण हो चुका है। कंपनी, राजस्थान में शिक्षा, स्वास्थ्य एवं सुपोषण के लिए कई महती परियोजनाओं पर जिम्मेदारी से कार्य कर रही है।