हिन्दुस्तान जिंक खुशी अभियान पुरस्कार समारोह में 32 बच्चे पुरस्कृत
स्कूलों में खुशी क्लब और खुशी बैंक देंगे वंचित बच्चों को खुशी

081202उदयपुर। हिन्दुस्तान जिंक के प्रधान कार्यालय के ऑडिटोरियम में गुरूवार को खुशी अवार्ड 2016 का आयोजन किया गया। शहर के प्रमुख 10 स्थानों पर गत दिनों 10 स्कूलों के 250 बच्चों ने मिलकर वंचित बच्चों के प्रति जागरूकता के अभियान खुशी के माध्यम से आम जनता को संदेश देने के लिये अपने मन की भावनाओं को कैनवास पर उकेर कर 80 पेंटिंग तैयार की थी।

प्रतियोगिता में दिल्ली पब्लिक स्कूल, केन्द्रीय विद्यालय, सिडलिंग स्कूल, रेयान इण्टरनेशनल, द स्टडी, बोहरा यूथ स्कूल, डीएवी, सेन्ट मैरी, विद्याभवन एवं सेंट मैथ्यूज के बच्चों ने खुशी अभियान द्वार आयोजित इस प्रतियोगिता में भाग लिया।
वंचित बच्चों के प्रति बच्चों और बडों की सोच को सृजनात्मक रूप देते हुए शहर के 10 प्रमुख स्कूलों के बच्चों ने रंगो के माध्यम से भ्रूण हत्या, बाल विवाह, बाल उत्पीड़न, बाल भिक्षावृत्ति, बालिका सुरक्षा, चाइल्ड टेªफिकिंग, बाल मजदूरी, बच्चों में कुपोषण एवं बाल षिक्षा पर अपने मन की भावानाओं और सोच के अनुरूप केनवास पर रंगों के माध्यम से चित्रों में उकेरा।
0812036 सदस्यीय ज्यूरी यूसीसीआई के वरिष्ठ उपाध्यक्ष हंसराज चौधरी, यूके नेशनल एवं खुशी एंबेसेडर जैनी निकॉल, निदेशक फ्यूजन बिजनेस सोल्यूशंस प्रा लि. की निदेशक श्वेता दूबे, अनिता शर्मा, रूचिका गोधा एवं कविता बड़जात्या ने 5 सर्वश्रेष्ठ व 27 श्रेष्ठ पेंटिंग का चयन किया। सर्वश्रेष्ठ कृति का प्रथम पुरस्कार सेन्ट मेरी की सावी प्रजापत, द्वितीय केवी स्कूल की हेत चौबिसा, तृतीय रियान इंटरनेशनल स्कूल की संदाली राठौड़, चौथे स्थान पर केवी स्कूल की गायत्री वीरवाल एवं पांचवे स्थान पर रियान इंटरनेशनल की सलौनी राठौड़ रही। बच्चों की कलाकृतियां इतनी प्रभावी थी कि ज्यूरी को अलग अलग थीम में तीन से ज्यादा विजेताओं का चयन करना पड़ा।
081204विजेताओं में सेन्ट मेरी स्कूल से साक्षी जैन, सावी प्रजापत, श्रद्धा तिवारी एवं हरमिता चुण्डावत, केवी स्कूल से हेत चौबिसा, विधि शार्मा, सलोनी जैन, गायत्री वीरवाल एवं भव्य सोनी, सीडिलिंग स्कूल से मोहम्मद हयात, अनुज सोनी, भक्ति जैन, वेदांश माली एवं तनिश पगारिया, रायन इंटरनेशनल स्कूल से मेलवन थॉमस, प्रबरित गम्भीर, सान्दली राठौड़, वैष्णवी मेहता एवं सलोनी राठौड़, डीपीएस स्कूल से सरीम खान एवं रोहित मेडा, बोहरा यूथ स्कूल से सारा खान, द स्टडी स्कूल से मिस्बा खान, सैंट मैथ्यू स्कूल से खुशी पालीवाल, स्वाति राठौड़, विद्याभवन स्कूल से हर्ष तलेसरा, डीएवी स्कूल से आयुष डांगी को पुरस्कृत किया गया। प्रत्येक स्कूल को मोमेंटो एवं विजेता बच्चों को मेडल, ट्रॉफी एवं प्रशस्ति पत्र से अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया।
शुभारंभ मुख्य अतिथि हिन्दुस्तान जिंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनिल दुग्गल, प्रोजेक्ट डायरेक्टर नवीन सिंघल, मुख्य वित्त अधिकारी अमिताभ गुप्ता, मुख्य प्रचालन अधिकारी स्मेल्टर्स विकास शर्मा एवं मुख्य प्रचालन अधिकारी माईन्स लक्ष्मण शेखावत ने दीप प्रज्जवलन कर किया।
दुग्गल ने कहा कि पिछले 5 वर्षों में वेदान्ता हिन्दुस्तान जिंक के खुशी अभियान ने लोगों के मन में वंचित बच्चों के प्रति जागरूकता पैदा की है। उन्होंने कहा कि आठ अलग-अलग विषयों पर स्कूली बच्चों द्वारा पेंटिंग के माध्यम से उकेरे गये चित्र न सिर्फ अद्भुत है बल्कि वे स्वयं छोटे छोटे बच्चों की सोच से बहुत प्रभावित है।
मुख्य प्रचालन अधिकारी विकास शर्मा ने कहा कि स्कूली बच्चों के मन में वंचित बच्चों के प्रति संवेदनशील भावनाएं खुशी अभियान का सकारात्मक परिणाम है। कार्यक्रम में हेड कॉर्पोरेट कम्यूनिकेशन पवन कौशिक ने अभियान की जानकारी देते हुए बताया कि 5 वर्षों में खुशी अभियान में करीब डेढ़ करोड से अधिक लोग जुड चुके हैं। अभियान का उद्देश्यक वंचित बच्चों के सम्पूर्ण विकास के प्रति एक जैसी सोच रखने वाले लोगों को साथ लेकर बदलाव लाने की दिशा में एक मुहिम है। इस अभियान के तहत् प्रत्येक स्कूल में खुशी क्लब और खुशी बैंक बनाकर वंचित बच्चों में बदलाव को साकार किया जाएगा।