केनवास एवं कपड़े से बनें बैग का उपयोग ही एकमात्र उपाय

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पौधारोपण के साथ-साथ प्लास्टिक के इस्तेमाल को लेकर दुग्गल ने कहा कि कागज़ एवं प्लास्टिक के बैग्स की जगह कपड़ों के बैग्स का उपयोग पर्यावरण संरक्षण के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में रोज़गार के अवसर भी उपलब्ध करायेगा। 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष में हिन्दुस्तान जिंक के प्रधान कार्यालय में विश्व पर्यावरण दिवस को थीम ’बीट प्लास्टिक पोल्यूशन’ पर मनाया गया।

इस वर्ष थीम का उद्देश्य है कि सभी को एक साथ पाॅलीबैग बोटल्स में सिंगल प्लास्टिक के अत्यधिक उपयोग को कम करना तथा भूमि, महासागरों एवं समुद्री जीवन को प्रदूषित करने और मानव स्वास्थ्य के नुकासन को तत्काल प्रभाव रूप से कम करने तथा स्थायी विकल्पों का पता लगाना है। इस अवसर पर हिन्दुस्तान जिं़क के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सुनील दुग्गल ने कहा कि विश्व को प्लास्टिक से मुक्त करना हम सब की जिम्मेदारी है और यह तभी संभव हो सकेगा जब देश का हर नागरिक अपनी जीवनशैली को प्लास्टिक मुक्त बनाने का संकल्प लेगा।

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आज प्रधान कार्यालय में कंपनी के एक्सो सदस्यों मुख्य कार्यकारी अधिकरी श्री सुनील दुग्गल, मुख्य वित्तीय अधिकारी श्री अमिताभ गुप्ता, हेड-ई.ओ.एच.एस, श्री वी. जयरमन, हेड-परियोजना श्री महेश टोडकर, मुख्य टेक्नोलाॅजी एण्ड इनोवेशन आॅफिसर-श्री बरून गोरेन, मुख्य काॅमर्शियल आॅफिसर-श्री रामाकृष्णन कांशीनाथ, हेड-सी.एस.आर. श्रीमती नीलिमा खेतान, हेड-एच.आर. श्री संजय शर्मा, हेड-कार्पोरेट रिलेसन्ष श्री प्रवीण कुमार जैन तथा कंपनी के कर्मचारियों ने सीताफल, अमरूद, नीम एवं आम के पौधों का पौधारोपण किया। दुग्गल ने हिन्दुस्तान जिं़क के प्रधान कार्यालय में लगाई गयी प्रदर्शनी का उद्घाटन किया एवं अवलोकन किया। कर्मचारियों और उनके परिजनों ने भी प्रदर्शनी का अवलोकन किया एवं सराहना की। प्रदर्शनी में प्लास्टिक कचरे, एसटीपी और एफएसटीपी माॅडल, सौर जल पंप, सौर रोशनी तथा प्लास्टिक की बोतलों और रैपरों से बने रचनात्मक कला और शिल्प का विशेष प्रदर्शन रहा। श्री दुग्गल ने बालिंग मशीन का भी उद्घाटन किया जो वेस्ट प्लास्टिक की बोतल को रीसाइक्टेबल ईंटों में परिवर्तित करना एक अनूठा प्रयास है जिसका उपयोग कपड़े बनाने में यार्न के रूप में किया जा सकता है। हिन्दुस्तान जिं़क के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री दुग्गल के साथ सभी कर्मचारियों ने प्लास्टिक के उपयोग से बचने और पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिज्ञा ली।

ज्ञातव्य रहे कि कंपनी की सभी इकाईयों में जागरूकता रैली का आयोजन किया गया जिसमें पर्यावरण के नारों, पर्यावरण पर आधारित क्वीज प्रतियोगिता, पोस्टर, सलोग्न, निबंध आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया तथा विजेताओं को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि द्वारा पुरस्कार प्रदान किये किये गये। हिन्दुस्तान ज़िंक के हेड-कार्पोरेट कम्यूनिकेषन पवन कौषिक ने बताया कि कंपनी अपने परिसरों में पर्यावरण, संरक्षण एवं सुरक्षा के लिए सदैव कटिबद्ध रहा है। कंपनी की सभी ईकाइयों में पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रखकर अति-आधुनिक तकनीक से परिपूर्ण है।

प्रधान कार्यालय में पर्यावरण दिवस के अवसर पर कंपनी के कर्मचारियों के लिए आॅनलाईन पर्यावरण जागरूकता क्राॅसवर्ड लान्च किया गया। कर्मचारियों और उनके परिजनों को 250 से अधिक सजावटी और फलधार पौधे, सब्जी के बीज और पक्षियों के लिए मिट्टी के जल फीडर वितरित किए। जावर माइन्स में विश्व पर्यावरण दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि आॅपरेशन हेड – एच.पी. कालावत, विष्ष्ठि अतिथि जावर माइंस मजदूर संघ के महामंत्री लालूराम मीणा थे। कार्यक्रम के आरम्भ में मुख्य अतिथि एवं जावर माइंस मजदूर संघ के पदाधिकारियों का स्वागत किया गया एवं सभी द्वारा वृ़क्षारोपण किया गया। कार्यक्रम के दौरान शिक्षा संबल कार्यक्रम के तहत संचालित ग्रीष्म कालीन शिविर के स्कूली बच्चों ने पोलिथिन के अनुपयोग पर नाटिका प्रस्तुत की। मुख्य अतिथि एच.पी. कालावत और विष्ष्ठि अतिथि लालूराम मीणा ने पर्यावरण को सुरक्षित रखने का संकल्प दोहराया। कार्यक्रम में नौ राजकीय विद्यालयों के 80 बच्चे, जावर माइन्स के महिला क्लब सदस्य और जावर माइंस मजदूर संघ के अधिकारीगण मौजूद रहे। पर्यावरण प्रतियोगिता का आयोजन आशुतोष पाठक द्वारा किया गया। विजेताओं को मुख्य अतिथि और विश्ष्ठि अतिथि द्वारा पारितोषिक दिए गए एवं कार्यक्रम के समापन के साथ पौधे वितरण किया गया। संचालन सीएसआर हेड़ अरूणा चीता ने किया।