इनोवेटिव एन्वायरमेन्ट परियोजना के लिए सीआरडीएल इकाई को मिला सम्मान

हिन्दुस्तान जिं़क की केन्द्रीय अनुसंधान एवं विकास प्रयोगशाला (सीआरडीएल) को इनोवेटिव एन्वायरमेंट प्रोजेक्ट की श्रेणी में उल्लेखनीय योगदान के लिए चैन्नई में आयोजित एक समारोह में ’’सीआईआई एन्वायरन्मेन्टल बेस्ट प्रैक्टिसेज अवार्ड-2018’’ से सम्मानित किया गया है।

यह पुरस्कार हिन्दुस्तान जिं़क की ओर से सीआरडीएल की टीम आशीष, शीबा एवं किरण ने आयोजित एक भव्य समारोह में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि से ग्रहण किये। यह पुरस्कार सीआरडीएल परियोजना को निर्माण क्षेत्र में पेवर ब्लाॅक्स के लिए सीसा-जस्ता उद्योग के अपशिष्टों का उत्कृष्ट उपयोग करने के लिए प्रदान किया गया है। सीआरडीएल ने पेवर ब्लाॅक्स के उत्पादन के लिए हिन्दुस्तान जिं़क द्वारा अपशिष्ट जैसे फ्लाईश, स्लैग तथा जारोसाइट से परंपरागत कच्चे माल का 60 से 80 प्रतिशत प्रतिस्थापित किया है। इसकी उत्पादन लागत भी आधी रह गई है। पेवर ब्लाॅक्स का हिन्दुस्तान जिं़क एवं वन विभाग, उदयपुर के द्वारा विभिन्न स्थानों पर सफलतापूर्वक उपयोग किया जा रहा है।
पुरस्कार के लिए 70 कंपनियों ने 158 केस स्टडीज के साथ भाग लिया जिसमें से 18 कंपनियों को ’’सीआईआई एन्वायरमेन्ट बेस्ट प्रैक्टिसेज अवार्ड-2018’’ के लिए चुना गया है। हिन्दुस्तान जिं़क की ईकाई सीआरडीएल की परियोजना को इनोवेटिव एन्वायरमेंट प्रोजेक्ट की श्रेणी में सम्मानित किया गया है।
हिन्दुस्तान जिंक के हेड-कार्पोरेट कम्यूनिकेशन पवन कौशिक ने कहा कि यह पुरस्कार हिन्दुस्तान जिं़क की सीआरडीएल इकाई द्वारा प्रदुषण रोकने के लिये आधुनिक तकनीक एवं नवाचार समाधान के साथ-साथ स्वस्थ एवं स्वच्छ वातावारण हेतु उठाये गये प्रभावी उपायों की मान्यता है।