12 केन्द्रों के ग्रामीण बच्चों ने मूल्यांकन शिविर में किया प्रदर्शन

उदयपुर। फुटबाॅल खेल के प्रति आस पास के ग्रामीण क्षेत्र में लगाव और गुदडी के लालों में कमी नही है, जावर स्टेडियम पर मंगलवार सुबह का नज़ारा फुटबाॅल पे्रमियों के जोश और उमंग से भरा था।

यहां आयोजित मूल्यांकन षिविर में ना सिर्फ आस पास के क्षेत्र एवं उदयपुर के गावों के 400 फुटबाॅल प्रतिभाओं बल्कि जावर माइंस के उच्चाधिकारियों और कर्मचारियों ने भी फुटबाॅल मैच में अपने हुनर दिखा दर्शकों का दिल जीत लिया। हिन्दुस्तान जिं़क द्वारा द फुटबाॅल लिंक के सहयोग से विगत एक वर्ष से जावर के 12 केन्द्रों पर नियमित फुटबाॅल का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण में नियमित रूप से खेल की बारिकियों और तकनीक का प्रशिक्षण हिन्दुस्तान जिं़क द्वारा द फुटबाॅल लिंक के कुशल प्रशिक्षकों द्वारा दिया गया, जिसका मूल्यांकन शिविर आयोजित कर खेल के प्रति बच्चों की समझ को आंका गया। इस मौके पर जावर माइंस के उच्चाधिकारियों ने भी आपस में मैत्री मैच खेल कर वहां मौजूद खिलाडियों का उत्साहवर्धन किया।
सामुदायिक जुड़ाव के तहत् खिलाड़ियों के परिजन और जावर माइंस के अधिकारियों और कर्मचारियों की भी इसमें भागीदारी रही। हिन्दुस्तान जिं़क और द फुटबाॅल लिंक द्वारा इन खिलाड़ियों का नियमित प्रषिक्षण चलाया जाएगा जिसके बाद इन्हें एफ क्यूब परीक्षण हेतु चयन प्रक्रिया में भाग लेने का अवसर मिल सकेगा। इन खिलाड़ियों की हिन्दुस्तान जिं़क जावर में शुरू होने वाली फुटबाॅल अकादमी में चयन से पहले की इस प्रक्रिया में बच्चों ने गति, सोचने समझने और प्रतिक्रिया की शक्ति एवं बाॅल पासिंग की तकनीक का बखुबी प्रदर्षन किया। सभी खिलाडियों को मेडल प्रदान किये गये।
इस मौके पर द फुटबाल लिंक से हेड कोच आवासिय फुटबाॅल अकादमी सुरेश कटारिया, रोहित पाराषर, संजीब महापात्रा, हिन्दुस्तान जिं़क, जावर माइंस से प्रशासन प्रमुख कर्नल विनय शर्मा, लीड सीएसआर अरूणा चीता, शुभम गुप्ता, नैरोती सांघवी, हेड प्लानिंग जगदीश प्रसाद, महेंद्र सुथार, डाॅ संदीप राजपुत, डाॅ सीएस मिश्रा, सहित खिलाड़ी, अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।