दूसरी तिमाही में 1,815 करोड़ रु. का शुद्ध लाभ, 1000 प्रतिषत विशेष अंतरिम लाभांष की घोषणा

DCIM100MEDIADJI_0311.JPG

उदयपुर। हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड ने सोमवार को आयोजित अपनी निदेशक मण्डल की बैठक में 30 सितम्बर 2018 को समाप्त छःमाही व दूसरी तिमाही के वित्तीय परिणामों की घोषणा की।

तिमाही के दौरान 172 मीट्रिक टन एकीकृत चांदी का उत्पादन हुआ जो गतवर्ष की तुलना में 23 प्रतिषत अधिक है तथा छःमाही के दौरान 91,000 टन एकीकृत सीसा धातु तथा 310 मीट्रिक टन एकीकृत चांदी का उत्पादन हुआ जो गतवर्ष की तुलना में क्रमशः 25 प्रतिशत एवं 22 प्रतिशत अधिक है। ‘‘हिन्दुस्तान जिं़क के चेयरमैन अग्निवेष अग्रवाल  ने कहा कि मुझे यह बताते हुए अति प्रसन्नता हो रही है कि डाॅऊ जोन्स सस्टेनेबिलिटी की सूची में हिन्दुस्तान जिंक को वैष्विक स्तर पर ’पर्यावरण’ श्रेणी में पहली रैंक तथा खनन एवं धातु कंपनियों की समग्र सूची में 5वां स्थान मिला है। कंपनी की वैश्विक रैंकिंग उत्कृष्ट पर्यावरण, टेक्नोलाॅजी, डिजिटाईजेशन, नवाचार तथा समुदायों के प्रति कटिबद्धता को दर्शाती है। शेयरधारियों को 1000 प्रतिशत विशेष अंतरिम लाभांश देने की घोषणा की भी मुझे बेहद खुशी है। वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही में खनित धातु का उत्पादन 2,32,000 टन हुआ जो गतवर्ष की समान अवधि की तुलना में 10 प्रतिषत अधिक है। छःमाही के दौरान 444,000 टन खनित धातु का उत्पादन हुआ जो कंपनी की गतवर्ष की इसी समान अवधि की तुलना में 2 प्रतिषत कम है तथा 444,000 टन भूमिगत खनित धातु का उत्पादन हुआ जो गतवर्ष की इसी समान अवधि की तुलना में 27 प्रतिशत अधिक है जो सभी खदानों में उच्च अयस्क उत्पादन के फलस्वरूप हुआ है।
दूसरी तिमाही के दौरान एकीकृत धातु का उत्पादन 2,12,000 टन हुआ जो गतवर्ष की समान अवधि की तुलना में 8 प्रतिषत कम है। तिमाही के दौरान एकीकृत जस्ता धातु का उत्पादन भी कम रहा है जबकि 49,000 टन एकीकृत सीसा धातु का उत्पादन हुआ जो गतवर्ष की समान अवधि की तुलना में 17 प्रतिशत अधिक है। दूसरी तिमाही के दौरान कंपनी ने 4,777 करोड़ रु. का राजस्व अर्जित किया जो गतवर्ष की समान अवधि की तुलना में 10 प्रतिषत कम है। राजस्व में कमी एलएमई में धातु की कीमतों के कारण प्रभावित रही है। हिन्दुस्तान जिं़क ने दूसरी तिमाही में 1,815 करोड़ रु. का शुद्ध लाभ अर्जित किया है। वित्तीय वर्ष 2019 की दूसरी छमाही में पहली छमाही की तुलना में खनित धातु एवं रिफाइण्ड जस्ता-सीसा धातु में भूमिगत खदानों के सकारात्मक उत्पादन के परिणामस्वरूप वित्तीय वर्ष 2019 में समग्र उत्पादन श्रेष्ठ रहने की संभावना है। कंपनी की घोषित खनन परियोजनाओं के अनुरूप वित्तीय वर्ष 2020 तक 1.2 मिलियन टन खनित धातु उत्पादन क्षमता प्रतिवर्ष करने का कार्य प्रगति पर है। जावर में 2 एमटीपीए नई मिल की स्थापना का कार्य प्रगति पर है तथा वित्तीय वर्ष 2019 की चालू वित्तीय वर्ष की चैथी तिमाही तक पूरा होने की संभावना है। चंदरिया में फ्यूमर प्रोजेक्ट का कार्य प्रगति पर है तथा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार वित्तीय वर्ष की चालू तिमाही तक पूरा होने की संभावना है। कंपनी के निदेषक मण्डल ने शेयरधारकों को 1000 प्रतिषत विशेष अंतरिम लाभांष देने की घोषणा की है जो 2 रूपये के प्रति इक्विटी शेयर पर 20 रुपये प्रति शेयर अंतरिम लाभांष है।