श्रीमती किरण अग्रवाल को हिन्दुस्तान जिंक के निदेशक मण्डल ने कम्पनी की अतिरिक्त निदेशक एवं चेयरमैन के पद पर नियुक्त किया है।

हिन्दुस्तान जिंक विश्व की सबसे प्रगतिशील खनन कंपनियों में से एक है जो कि अपने स्थिर विकास की प्रतिबद्धता के साथ देश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देता है। जिंक एण्ड सिल्वर आॅफ इण्डिया के रूप में मान्यता प्राप्त कंपनी ने भारत में जिंक को पर्याप्तता प्रदान की है और वैश्विक जस्ता, सीसा और चांदी के बाजार में भारत का प्रतिनिधित्व करता है। हिन्दुस्तान जिंक अपने आस-पास के समुदाय के विकास और उत्थान के लिए प्रतिबद्ध है।
किरण अग्रवाल का जन्म 22 जनवरी 1958 को राजस्थान के सांगानेर में हुआ  तथा इन्होंने लंदन स्कूल आफ जर्नलिज़म से पत्रकारिता का अध्ययन किया है। श्रीमती अग्रवाल को पढ़ने का शौक है एवं लेखिका है जो कि कई पहलुओं पर अपने विचार रखती है। पढ़ने एवं लिखने के प्रति शौक ने ही श्रीमती अग्रवाल को भारतीय लोकाचार की खानपान की पुस्तकों के लेखन हेतु प्रेरित किया है। ये अपने पारिवारिक व्यवसाय के साथ सक्रिय रूप से जुड़ी है एवं विभिन्न व्यवसायिक विकास हेतु अपने कौशल को साझा करती है। श्रीमती अग्रवाल वंचित बच्चों के लिए कार्यरत संस्था नंदघर को स्थापित एवं संचालन के लिए कार्यरत है जिनके निर्देशन में बच्चों को उच्च शिक्षा, सही मार्गदर्शन और मूल्य आधारित शिक्षा को प्राप्त करने के लक्ष्य की ओर अग्रसर है। श्रीमती अग्रवाल, अग्रवाल गेल्वेनाइजिं़ग प्राईवेट लिमिटेड के निदेशक मण्डल एवं वेदांता फाउण्डेशन की ट्रस्टी है। श्रीमती किरण अग्रवाल सामाजिक हित के विभिन्न पहलुओं को पूरा करने में महती भूमिका निभा रही है।