पं. चतुरलाल स्मृति सोसायटी का कार्यक्रम ‘स्मृतियां’

udaipur. शरद पूर्णिमा के चमकते धवल चांद तले शिल्पग्राम के मुक्ता‍काशी रंगमंच पर जब परवान चढ़ती गुलाबी ठंडक के बीच प्रख्यात बांसुरी वादक रोनू मजूमदार और ग्रेमी अवार्ड विजेता पं. विश्व मोहन भट्ट ने मोहन वीणा पर अपने तार छेड़े तो कला रसिक श्रोता खुद को तालियां बजाने से नहीं रोक पाए।

(continue reading…)